राजस्थान में गहलोत ने पेश किया विश्वास प्रस्ताव, अलग से सदन पहुंचा पायलट गुट

जयपुरः राजस्थान में विधानसभा का सत्र शुरू हो गया है और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा में विश्वास मत प्रस्ताव पेश कर दिया है। सत्र से पहले विधायकों को व्हिप जारी कर दिया गया है। वहीं भाजपा अविश्वास मत प्रस्ताव लाने की तैयारी में थी, लेकिन गहलोत ने पहले ही चाल चल दी। अशोक गहलोत ने दावा किया है कि उनकी सरकार आसानी से बहुमत साबित कर देगी।
करीब एक महीने की बगावत के बाद सचिन पायलट वापस जयपुर लौटे। वीरवार की शाम को सचिन पायलट, अशोक गहलोत की मुलाकात हुई। दोनों ने एक-दूसरे से हाथ मिलाया, फोटो खिंचवाई लेकिन चेहरे के भाव ना पता चल सके क्योंकि दोनों ने मास्क पहना हुआ था, कांग्रेस ने बैठक में भाजपा को हराने का संदेश दिया और बीजेपी पर ही सरकार गिराने का आरोप लगा दिया।

हालांकि, अशोक गहलोत ने ये भी कहा कि अगर 19 विधायक साथ ना आते, तो भी वो बहुमत साबित कर देते, लेकिन अब सबकुछ भुलाकर आगे बढ़ेंगे. साफ है कि पार्टी आलाकमान के कहने पर भले ही अभी दोनों साथ आए हों, लेकिन तल्खी अभी भी बरकरार है. बीजेपी के अविश्ववास प्रस्ताव के जवाब में सीएम अशोक गहलोत ने खुद ही विश्वास प्रस्ताव लाने की बात कह दी है।

Leave a Reply