स्कूली शिक्षा पर बोले पीएम मोदीः हमें अपने स्टूडेंट्स को 21वीं सदी की स्किल्स के साथ आगे बढ़ाना है

नई दिल्ली: राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत ’21वीं सदी की स्कूली शिक्षा’ सम्मेलन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शुक्रवार को सम्बोधित किया। इस मौके पर 25 देशों के छात्र और कई शिक्षक सम्मेलन में शामिल हुए हैं। दरअसल, शिक्षा मंत्रालय दो दिवसीय सम्मेलन का आयोजन कर रहा है, जिसकी शुरुआत बीते दिन गुरूवार से हुई। इसी कड़ी में आज इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हुए। सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘तीन दशकों में हमारे जीवन का लगभग हर पहलू बदल गया है। हमारी शिक्षा नीति को बदलना जरूरी था।’
नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति भी नए भारत की, नई उम्मीदों की, नई आवश्यकताओं की पूर्ति का माध्यम है। इसके पीछे पिछले चार-पांच वर्षों की कड़ी मेहनत है, हर क्षेत्र, हर विधा, हर भाषा के लोगों ने इस पर दिन रात काम किया है। लेकिन ये काम अभी पूरा नहीं हुआ है। अब तो काम की असली शुरुआत हुई है। अब हमें राष्ट्रीय शिक्षा नीति को उतने ही प्रभावी तरीके से लागू करना है। और ये काम हम सब मिलकर करेंगे।
मुझे खुशी है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करने के इस अभियान में हमारे प्रिंसिपल्स और शिक्षक पूरे उत्साह से हिस्सा ले रहे हैं।

Leave a Reply