भारत ने चीन सीमा पर तैनात किये टी-90, टी-72 टैंक, चीनी सेना की गुस्‍ताखी पर उगलेंगे आग

लद्दाखः भारत ने चीन को मुंह तोड़ जवाब देने के तैयारी कर ली है और चीनी सेना को जवाब देने के लिए भारतीय सेना ने टी-90 और टी-72 टैंकों को पूर्वी लद्दाख के जैसे दुर्गम इलाकों में पहुंचा दिया गया है, वैसे इलाकों में दुनिया का कोई देश टैंक तैनात नहीं कर सका है। लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल से सटे चूमर और देमचोक इलाकों में इन टैंकों की तैनाती से चीन की टेंशन बढ़ना तय है। भारत ने बीएमपी-2 इन्‍फैंट्री कॉम्‍बैट वेहिकल्‍स भी एलएसी के पास तैनात किए हैं। ये माइनस 40 डिग्री तापमान में भी आसानी से काम कर सकते हैं। यानी लद्दाख की बर्फीली वादियों में अगर चीनी सेना ने कोई गुस्‍ताखी तो ये टैंक आग उगलना शुरू कर देंगे।

भारत ने लद्दाख में जिन T-90 टैंकों की तैनाती की हैं, वे मूल रूस से रूस में बने हैं। भारत टैंकों का तीसरा सबसे बड़ा ऑपरेटर है। उसके बेड़े में करीब साढ़े 4 हजार टैंक (T-90 और उसके वैरियंट्स, T-72 और अर्जुन) हैं। भारत में इन टैंकों को ‘भीष्‍म’ नाम दिया गया है। इनमें 125mm की गन लगती होती है। 46 टन वजनी इस टैंक को लद्दाख जैसे इलाके में पहुंचा पाना आसान काम नहीं था। यह अपने बैरल से ऐंटी-टैंक मिसाइल भी छोड़ सकता है। हमने इसमें इजरायली, फ्रेंच और स्‍वीडिश सब सिस्‍टम लगाकर इसे और बेहतर किया है।

Leave a Reply