किसान मुद्दे पर क्षेत्रीय दलों का राष्‍ट्रीय मोर्चा बनाएगा शिरोमणि अकाली दल

नई दिल्‍लीः सरकार की ओर से लाए गए कृषि संबंधी नए कानून का विरोध देश भर में किसानों और विपक्षी दलों की ओर से हो रहा है। इस बीच एनडीए से अलग होने वाले शिरोमणि अकाली दल पार्टी के वरिष्‍ठ नेता प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल सरकार द्वारा लाए गए 3 कृषि विधेयकों का विरोध देश में जारी रखने के लिए और किसानों के मुद्दे उठाने के लिए क्षेत्रीय दलों का राष्‍ट्रीय मोर्चा बनाएगी। उनका कहना है कि इसके जरिये एक बड़ा आंदोलन शुरू किया जाएगा। पूर्व लोकसभा सांसद प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने यह भी कहा कि किसानों के मुद्दे पर पार्टी के रुख के लिए कई क्षेत्रीय दलों के नेता शिरोमणि अकाली दल को शुभकामनाएं दे चुके हैं। इनमें फारूक अब्‍दुल्‍ला, ममता बनर्जी, नवीन पटनायक, और शरद पवार जैसे नेता शामिल हैं। उनका कहना है कि एक-दूसरे पर कीचड़ उछालने से बेहतर है कि हम किसानों के लिए एक मोर्चा तैयार करें।
 वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को कहा था कि उनकी सरकार नए कृषि कानूनों को उच्चतम न्यायालय में चुनौती देगी। सिंह ने यह भी कहा कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी, आईएसआई किसानों के असंतोष का फायदा उठाते हुए समूचे राष्ट्र में गड़बड़ी पैदा करने की कोशिश कर सकती है। उन्होंने कहा कि वह नहीं चाहते कि पंजाब के किसान और युवा हथियार उठाएं, लेकिन ये कानून सीमावर्ती राज्य की सुरक्षा को खतरे में डालेंगे क्योंकि आईएसआई ऐसे अवसरों की तलाश में रहती है।

Leave a Reply