पंजाब कांग्रेस में बड़े बदलाव की तैयारी, सिद्धू को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

चंडीगढ़ः पंजाब में हरीश रावत को कांग्रेस का प्रभारी बनाए जाने के बाद राज्य कांग्रेस में भी बदलाव के संकेत मिल रहे हैं। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्य कांग्रेस के नए प्रभारी रावत से मिले संकेतों के अनुसार पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू का सियासी वनवास जल्दी खत्म हो सकता है। रावत का कहना है कि सिद्धू जल्द ही पार्टी की गतिविधियों में सक्रियता से भागीदारी करना शुरू करेंगे। उन्होंने कहा कि कई मोर्चों पर सिद्धू पार्टी को लीड करते भी नजर आएंगे। रावत ने चंडीगढ़ पहुंचने के बाद पार्टी के कई विधायकों से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत में रावत ने कहा कि वह लगातार सिद्धू के संपर्क में बने हुए हैं। उन्होंने सिद्धू को कांग्रेस का भविष्य बताते हुए कहा कि सिद्धू को राहुल गांधी और प्रियंका के साथ मिलकर देश में लोकतांत्रिक ताकतों को एकजुट करने का काम करना चाहिए।
पत्रकारों के सवाल के जवाब में रावत ने कहा कि सिद्धू सियासी रूप से काफी समझदार हैं और वे पंजाब की सेवा करने के साथ ही देश की सेवा करने के लिए भी आगे आएंगे। उन्होंने कहा कि मेरा और सिद्धू दोनों का लक्ष्य एक ही है। हम दोनों मिलकर पंजाब को आगे बढ़ाने के लिए काम करेंगे।
 मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बारे में पूछे जाने पर रावत का कहना था कि कैप्टन तो कैप्टन है,वह जन्म से ही कैप्टन है। 2022 के विधानसभा चुनाव में कैप्टन के कांग्रेस का चेहरा होने के सवाल पर रावत ने कहा कि कुछ चीजों का फैसला व्यक्ति को खुद करना होता है। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह काफी अनुभवी नेता हैं और उनके अनुभवों की जरूरत पंजाब के साथ देश को भी है। हाल के दिनों में कैप्टन अमरिंदर सिंह की ओर से 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में भी मैदान में उतरने का संकेत दिया गया है।

Leave a Reply